SIP in Hindi Meaning: समझे सरल शब्दों में

शायद आपने SIP (SIP in Hindi Meaning) के बारे में सुना हो, लेकिन इसका मतलब क्या होता है और यह निवेश के लिए कैसे महत्वपूर्ण है, यह जानकर आपको हैरानी हो सकती है।

यह एक निवेश करने की विशेष तरीका है जिसमें आप नियमित समय अंतराल में निवेश करते हैं।

इसका मतलब है कि आप नियमित फाइनेंसियल योजनाओं के तहत निवेश करने का विचार करते हैं, जो आपके लिए अधिक सुरक्षित हो सकता है।

इस लेख में, हम SIP का मतलब समझेंगे और जानेंगे कि यह कैसे आपके फाइनेंसियल लक्ष्यों को पूरा करने में मदद कर सकता है। 

SIP in Hindi Meaning with Example :

SIP का मतलब होता है Systematic Investment Plan अब सवाल ये आता है की इससे होता क्या है ?

अगर आपके पास निबेश करने के लिए पैसे है लेकिन पर्याप्त ज्ञान नहीं है तो आपके लिए सबसे फायदेमंद निबेश हो सकता है ये SIP जिसमे रिस्क कम होती है और फायदा होने की सम्भाबनाय ज्यादा होती है।

इसमें आपको महीने या तीन महीने में निबेश करना होता है किसी फाइनेंसियल इंस्ट्रूमेंट(शेयर्स,बांड्स ,गोल्ड्स ) या Derivatives  में लॉन्ग टर्म के लिए।

Example:

मान लीजिये आप महीने के 25000 कमाते है और उसमे से हर महीने आपके अकाउंट से 5000 अपने आप ही निबेश हो जाये आपके चुने हुए क्षेत्र में।

जिसमे आपको ज्यादा दिमाग लगाने की जरुरत नहीं परति है। जिससे लम्बे समय में आपको बड़ा मुनाफा मिलने की सम्भाबना होती है।

Types of SIP in Hindi : SIP के प्रकार

Types of SIP in Hindi

अभी के समय में सबसे प्रचलित निबेशो में SIP भी आता है,आपने गौर किया होगा TV Adertise में।

इसमें निबेश करने वाले निबेशक़ भी बोहत है, और इसलिए निबेश कम्पनिया या म्यूच्यूअल फण्ड कम्पनिया अपने निबेशको के हिसाब से अलग अलग SIP प्रदान करती है।

जिनमे जरुरी कुछ प्रकार है जो निचे दिए हुए है।

Regular SIP:

नाम से पता चल रहा होगा रेगुलर यानि सामान्य SIP जिसमे ज्यादा ताम झाम नहीं होता।

इस SIP के अनुशार आपको नियमित समय अंतराल में निश्चित अमाउंट निबेश करनी होती है। ये monthly ,Quaterly ,या half yearly की होती है। जो आप पर निर्भर करती है की आप कोनसा समय सिमा चुनेंगे निबेश के लिए

इस तरह की SIP उन लोगो को करनी चाइये जिनकी आय निश्चित हो और जिन्हे आने वाले दिनों में एक निश्चित राशि से ही निबेश जारी रखनी है।

Top Up SIP:

इस तरह की SIP में आपको निश्चित समय सीमा के बाद निबेश की राशि को बढ़ाने की सुबिधा दी जाती है। इससे फायदा ये होता है की आप समय के साथ अपने निबेश को बढ़ा सकते है।

उदहारण के लिए मान लीजिये आपने एक TOP UP SIP किया जिसमे आपको हर महीने 1000 Rs निबेश करने होते है। अब आपके चुने हुए समय अंतराल के बाद ये निबेश अमाउंट 2000 rs प्रति माह हो जाएगी। ऐसे समय समय के बाद आपकी निबेश राशि में परिबर्तन होता रहेगा।

इस तरह की SIP उन लोगो के लिए है जिनकी आए लगातार बरती रहती हो।

Flexible SIP:

ये sipबिलकुल रेगुलर SIP जैसा होता है बस फर्क ये होता है की इसमें आप निबेश की राशि को अपने हिसाब से बदल सकते है बिना किसी समय अंतराल के ,

है ना मजेदार !

यानी इस SIP में निवेश होने वाली  amount को आप अपने हिसाब से कभी भी बढ़ा और घटा सकते हैं। जिससे आप SIP में होने वाले निवेश को नियंत्रित कर सकते हैं।

Trigger SIP:

ये एक ऐसा SIP प्लान होता है जिसमे आपके पैसे तभी निबेश होंगे जब आपके तय किये गए कीमत पर Stock Market या Mutual Fund का कीमत न पोहच जाये। इसलिए इसे Trigger SIP कहते है,किउकी ये तय किये हुए कीमत पर पोहचने पे अपने आप निबेश हो जाता है।

इस तरह के SIP में निबेश करने के लिए आपको शेयर मार्केट के कीमतों को नजर डालते रहना पड़ेगा।

एसआईपी कैसे शुरू करें?(How to start invest in SIP)

How to start invest in SIP

सबसे पहली बात जो आपको ध्यान में रखना होगा SIP में निबेश करने से पहले, वो है आपका फाइनेंसियल लक्ष। किउकी अगर आपको पता ही नहीं की आपको कहा जाना है तो आप कही नहीं पोहचेंगे।

तो मेरे दोस्त सबसे पहला काम ये रहेगा की आपको कितने सालो में कितने पैसे किसलिए चाइये ये तय करे। और इस लेख आगे परते जाये।

ये रहे कुछ steps जिन्हे फॉलो करके आप खुद आपके आस पास के लोगो को भी SIP में निबेश करने के बारे में बताह सकते है।

Demat Account खोले :

शेयर मार्किट हो या म्यूच्यूअल फण्ड इनके SIP में निबेश करने के लिए आपको डीमैट अकाउंट चाइये।

पहला कदम तो ये है की आप डीमैट अकाउंट बनवाइए किसी डिस्काउंट ब्रोकर के द्वारा या आप ऑनलाइन डीमैट अकाउंट खोल सकते है। मैंने भी ऑनलाइन डीमैट अकाउंट खोला है तो में सुझाव करूँगा आप भी ऑनलाइन खुलवा सकते है , बस कुछ मिंनटो में।

यहाँ कुछ ऑनलाइन ब्रोकर्स के नाम है जिनके मदत आप डीमैट खाता खुलवा सकते है जो की है KIte Zerodha, AngelBroking, Grow, Motilal Oswal

अगर Demat Account के बारे में और भी जानना चाहते है तो –Click Here

इन्वेस्टमेंट के लिए सही Mutual Fund चुने :

आपके डीमैट खाता खोलने के बाद दूसरा कदम सही इन्वेस्टमेंट का चुनाव करना। किउकी अगर आप सही चुनाव करेंगे तो आपके किये गए निबेश भबिष्य में सही return देगी , लेकिन अगर आपने गलत चुनाव किया हो तो आपको भारी नुकसान झेलना भी पढ़ सकता है। । यह ध्यान में रखे की ये सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण कदम है। 

इसलिए चुनाव करते वक़्त इन् चीज़ो को फॉलो कीजिये जो निचे दिए हुए है ,ताकि आप एक अच्छा रिटर्न कमा पाए 

  1. उस निबेश फण्ड का पिछले 10 साल का CAGR या परफॉमेंस चेक करे जिसमे आप निबेश करना चाहते है
  2. म्यूच्यूअल फण्ड की होल्डिंग चेक करे और देखे कितने कंपनियों में निबेश किया हुआ है।
  3. इसके बाद फंड का लॉक इन पीरियड देखें यह बहुत इंपोर्टेंट होता है क्योंकि इससे आपको पता चलता है कि आप कितने समय बाद अपने SIP में निवेश किए हुए पैसे को बाहर निकाल सकते हैं।

और है ये ध्यान में रखे की “म्यूच्यूअल फण्ड निबेश बाजार जोखिमों के अधीन है कृपया सभी दस्ताबेज ध्यान से पढ़े

SIP में कितना पैसे निबेश करना है ये तय करना:

आप कितना पैसे SIP में निबेश करेंगे महीने या हफ्ते में उस हिसाब से ही आपको भबिष्य में return मिलेगा।

1000 रूपये हर महीने से सुरुवात कर सकते है जिससे हर महीने 1000 रुपये आपके अकाउंट से अपने आप ही SIP में निबेश हो जायगा।

जिससे आपका इन्वेस्टमेंट वैल्यू बरता रहेगा, आप जितना ज्यादा निबेश करेंगे आपको उतना ही ज्यादा return मिलेगा।

SIP के लिए एक समय सीमा तय करे:

सुरुवात से मैंने एक चीज़ को बार बार दोहराया है वो है समय सीमा ,आप कितने समय के लिए सिप (SIP ) में निबेश रहना चाहते है वो पहले ही तय कर ले।

किउकी कोई भी निबेश में सबसे जरुरी चीज़ होती है समय ,

और आप किसी निबेश में जितना समय देंगे कम्पाउंडिंग(Compunding) की ताक़त आपको उतना ही अमीर बनाता जायेगा।

एसआईपी के लिए डॉक्युमेंट्स (Documents for SIP in Hindi)

Documents for SIP in Hindi

SIP में निबेश करने से पहले ये सुनिश्चित करना होगा की सारे जरुरी documents आपके पास हो, हालांकि इस निबेश के प्रोसेस में समय लगता है।

ये कुछ जरुरी डाक्यूमेंट्स है जो SIP में निबेश करने के लिए चाइये :

  1. ID proof
  2. PAN 
  3. Address proof
  4. Bank Account

ये सुनिश्चित करे की सरे डाक्यूमेंट्स में डिटेल सही हो, और हर चीज़ को दो बार चेक करे।

SIP में निबेश करने से पहले ध्यान देने वाली बाते:

हालांकि आपने SIP में निबेश करने का निर्णय ले लिया है , ध्यान देने वाली कुछ बाते है जिन्हे आप फॉलो करेंगे तो एक अच्छा return बना सकते है।किउकी कुछ लोग है जो बोहत सारी गलतिया करते है और अपना सारा पैसा खो देते है।

अगर आप उन बातो को जानना चाहते है जिन्हे फॉलो करके आप अपने फाइनेंसियल लक्ष को हासिल कर सकते है।तो वो निम्नलिखित है:

फिएनसीएल लक्ष:(Financial Goal)

आपके फाइनेंसियल लक्ष से ही तय होगी, आपको कितने पैसे निबेश करने की जरुरत है। क्या आप अपने रिटायरमेंट के लिए पैसे निबेश करेंगे ?

या क्या आप नयी कार खरीदने के लिए निबेश करेंगे ? 

क्या आप अपने बच्चो की एजुकेशन के लिए निबेश करेंगे ? 

इसलिए सबसे पहला काम आपको ये तय करना है की आप निबेश किस कारण से करना चाहते है !!!

जोखिम लेने की क्षमता को पहचानना :

Systematic Investment Plan में निबेश करने से पहले आपको अपने जोखिम लेने की क्षमता को पहचानना होगा। आपकी फाइनेंसियल लक्ष और जोखिम लेने की क्षमता से ही decide होगी की आप कितना पैसा बनाएंगे।

किउकी आपको आपकी कैपेसिटी(capacity) पता नहीं होगी तो आप गलती कर सकते है !

फाइनेंसियल सलाहकार से बात करे :

निबेश करने से पहले आपको किसी फाइनेंसियल सलाहकार से बात करना चाइये, ताकि वो आपको सही इन्वेस्टमेंट फंड्स चुनने में मदद करे।

और वो आपको आपके कैपेसिटी के हिसाब से सिप (SIP ) रेकमेंड करेगा जिससे आपकी निबेश में बड़ोतरी होने के सम्भाबना बढ़ जाएगी।

Frequently Ask Question:

Q.सिप में कितना रिटर्न मिल सकता है ?

A.SIP में लगभग 12 प्रतिशत का return मिलता है जो की FD के Return से ज्यादा है। 

Q.क्या मैं एसआईपी में प्रति माह 500 का निवेश कर सकता हूं ?

A.हाँ, बिलकुल आप ऐसा कर सकते हैं। संपत्ति निर्माण का लोकप्रिय निवेश सिद्धांत ‘जल्दी शुरु करें।,लगातार निवेश करें, दीर्घ समय के लिए निवेश करें’ है। चाहे निवेश रु. 500 का ही हो, यात्रा शुरु करना महत्वपूर्ण है।

Q.क्या म्यूच्यूअल फण्ड में पैसा डुब् सकता है ?

A.म्यूच्यूअल फण्ड में पैसा डूब सकता अगर आप बिना कोई ज्ञान के निबेश करेंगे तो , समझने वाली बात ये है की निबेश करने से पहले बिशेषज्ञा की सलाह जरूर ले। 

Q.एसआईपी से करोड़पति कैसे बने?

अगर आप हर महीने सिप (SIP ) में अपनी कमाई से दस हजार रुपये निवेश करते हैं तो लगभग बीस साल बाद आप करोड़पति बन सकते हैं।

Q.क्या एसआईपी फायदेमंद है?
 
A.हां बिलकुल, फायदेमंद है अगर आपको निबेश की ज्यादा जानकारी नहीं है तो sip आपके लिए सबसे ज्यादा फायदे मंद है। 
 

Conclusion:

तो इस लेख में हमने बात किया सिप क्या है ? इसमें निबेश कैसे करे , और निबेश करने से पहले कोण कोण सी बात फॉलो करे। आखिर में इतना बोलना चाहूंगा की कोई भी निबेश करने से पहले उसके बारे में आबश्यक जानकारी जरूर ले। किउकी बिना जानकारी के आपके पूंजी में नुकसान होने की सम्भाबना ज्यादा होती है।
 
अगर आपको ये लेख अच्छा लगा तो कमेंट में जरूर बताये ,और अपनी अनुभब को हमारे साथ बांटे।

1 thought on “SIP in Hindi Meaning: समझे सरल शब्दों में”

Leave a Reply